Operation Crime Alert
ब्रेकिंग न्यूज़
Other अपराध ब्रेकिंग न्यूज़ राष्ट्रीय

चर्चित हुए कुत्ता घुमाने वाले IAS दंपती का तबादला, संजीव खिरवार को लद्दाख और उनकी पत्नी को अरुणाचल प्रदेश जाने के निर्देश –

– कृष्ण राज अरुण –
नई दिल्लीः ( ऑपरेशन क्राइम अलर्ट ब्यूरो ) मॉर्निग वाक् दौरान नई दिल्ली त्यागराज स्टेडियम में अपने कुत्ते को सैर कराने के लिए एथलीटों को जल्दी निकलवा कर स्टेडियम को पूरी तरह खाली करवा देने वाले आईएएस अफसर संजीव खिरवार को बीते गुरुवार की सुबह अचानक चर्चा में आए और शाम तक उनपर तबादले की गाज गिर गई।
शिकायतों की गंभीरता को देखते हुए गृह मंत्रालय ने देर शाम को आदेश जारी करके संजीव खिरवार को तबादला करते हुए लद्दाख भेज दिया है, वहीं उनकी पत्नी आईएएस अधिकारी रिकू दुग्गा को अरुणाचल प्रदेश भेज दिया गया है। दोनों 1994 बैच के जॉइंट यूटी काडर के अधिकारी हैं।

खिरवार दिल्ली सरकार में प्रिंसिपल सेकेट्री (रेवेन्यू) के पद पर तैनात थे-

फरीदाबाद के रहने वाले सुमीत त्यागराज स्टेडियम में कबड्डी की कोचिंग लेते हैं। ट्रेनिंग की टाइमिंग 4-6 बजे तक है। उनका कहना है कि फुल ट्रेनिंग के लिए 2 घंटे का वक्त काफी नहीं है। कबड्डी की बारीकियों को सीखना, उसका अभ्यास करना और रनिंग के लिए कम से कम 3 या 4 घंटे का वक्त चाहिए।
लेकिन स्टेडियम में प्रैक्टिस के लिए सिर्फ 2-3 घंटे ही मिल पाते हैं। शाम 7 बजे के बाद सिक्योरिटी गार्ड कोच को और उन्हें ट्रेनिंग बंद करने के लिए कह देते हैं। इसलिए पिछले कई दिनों से वह कड़ी धूप में ही जल्दी स्टेडियम पहुंच जाते हैं, ताकि ट्रेनिंग के लिए उन्हें अधिक वक्त मिल सके।
कई लोगों को हुई थी आपत्ति –
वॉलीबॉल और जूडो की ट्रेनिंग लेने वालों का कहना हैकि कुछ हफ्ते पहले ही उन्होंने ट्रेनिंग शुरू की है। पहले ट्रेनिंग के लिए समय की कोई पाबंदी नहीं थी। दो घंटे के बजाय बच्चे 3-4 घंटे ट्रेनिंग करते थे और कोच भी उनके साथ ही रहते थे। कई बच्चे तो 8-8.30 बजे तक भी ट्रेनिंग करते नजर आते थे। लेकिन पिछले कुछ समय से सिक्योरिटी गार्ड 7 बजे ही स्टेडियम खाली करने के लिए कह देते हैं। जिसे अधिक देर तक प्रैक्टिस करनी होती है, उसे शाम 4 बजे की बजाय दोपहर में ढाई या 3 बजे ही कड़ी धूप में आना पड़ता है।
स्टियम के गेट नंबर-1 पर जितने भी गार्ड्स की ड्यूटी है, उनका कहना है कि उन्हें सिर्फ इतना पता है कि कोई बड़े अफसर वॉकिंग के लिए आते हैं। लेकिन, वह कौन हैं, इसके बारे में जानकारी नहीं है।

Related posts

Adopt a self-regulation model for tech industries

cradmin

यूपी के किसानों को नैनो तकनीक से बनाए गए 500 मिली लीटर के बोतल में यूरिया खाद मिलेगी अब बोरी का झंझट खत्म ।

Elderly woman gets separated from family during Taj Mahal visit. How Agra Police helps her

cradmin