Operation Crime Alert
ब्रेकिंग न्यूज़
Other अपराध ब्रेकिंग न्यूज़ राष्ट्रीय

अयोध्या राम जी की नगरी में मृतका महिला बैंक मैनेजर के सोसायट नोट अनुसार आईपीएस सहित 3 लोगों पर पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज –

लखनऊ/अयोध्या जी ( ऑपरेशन क्राइम अलर्ट ) अयोध्या राम जी की नगरी में महिला बैंक मैनेजर के आत्म हत्या मामले में एक आईपीएस अधिकारी समेत तीन लोगों पर आपराधिक मामला दर्ज हुआ है यह बात आरोप लगाने वाले मृतका के भाई शुभम अनुसार बता दें कि करीब एक साल पहले उनकी बहन श्रद्धा की शादी बलरामपुर के उतरौला निवासी विवेक गुप्ता से तय हुई थी. चिनहट इलाके में बीबीडी के पास दयाल रेजीडेंसी में रहने वाला विवेक उस वक्त लखनऊ स्थित एचसीएल में नौकरी करता है।

दरवाजे के ऊपर रोशनदान को तोड़कर पुलिस जब अंदर पहुंची तो श्रद्धा कमरे के छज्जे में लगे कुंढे से लटकती मिली.

मृतका के भाई शुभम गुप्ता का आरोप है कि विवेक गुप्ता न सिर्फ उनकी बहन श्रद्धा को बल्कि पूरे परिवार को निरंतर तंग कर रहा था. समझाने पर भी वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था. वह उसको स्पॉटर पुलिस अधिकारियों का नाम लेकर धौंस देता था. कहता था कि उसका कोई कुछ नहीं कर सकता. शुभम का आरोप है कि विवेक की कुछ पुलिसकर्मी मदद करते थे, इसी के चलते वह दबंगई कर रहा था।
उत्तर प्रदेश रामजी की नगरी अयोध्या में पीएनबी बैंक मैनेजर सुसाइड केस में पुलिस ने आईपीएस अधिकारी और अयोध्या के पूर्व एसपी रहे आशीष तिवारी सहित तीन लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर आईपीएस आशीष तिवारी, हेडकांस्टेबल अनिल रावत और विवेक गुप्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. बीते शनिवार को अयोध्या में पीएनबी बैंक की मैनेजर ने अपने आवास पर सुसाइड कर ली थी. बैंक मैनेजर के पिता की तहरीर पर अयोध्या पुलिस ने यह कार्रवाई की है. वहीं अयोध्या के पुलिस अधीक्षक शैलेष पांडेय ने बताया कि परिजनों की शिकायत के आधार पर अभियोग पंजीकृत किया गया है. पोस्टमार्टम के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दी गई है. उन्होंने आगे कहा कि पुलिस की जांच जारी है।

   बताया जा रहा है कि विवेक की हरकतें खराब थीं.

       कई युवतियों से उसकी दोस्ती थी, जिनका उसके घर पर भी आना-जाना था. कुछ और बातें पता चलने पर विवेक से श्रद्धा की शादी तोड़ दी गई थी. मगर वो श्रद्धा को परेशान कर रहा था। उसकी धौंस डपट में उच्च पुलिस अधिकारीयों का नाम आता था की उसका कोई कुछ नहीं बिगड़ सकता। लगातार धौंस के चलते मृतका मानसिक तनाव में बताई जाती रही मृतका के भाई ने कहा की बहन मैनेजर के पद पर थी वह लगातार तनाव और प्रतिस्ठा के चलते उसने सुसाइट नोट जग जाहिर करते हुए आत्म हत्या की।

   अयोध्या के पुलिस अधीक्षक शैलेष पांडेय ने बताया कि परिजनों की शिकायत के आधार पर अभियोग पंजीकृत किया गया है। पोस्टमार्टम के बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया गया है उन्होंने आगे कहा कि पुलिस की जांच जारी है।

 

Related posts

यूपी के कानपूर में शनिवार की सुबह ट्रिपल मर्डर की खबर ने झकझोरा – 36 घंटे में ये वारदात ने चौंकाया मनीष गुप्ता के बाद यहभी अनूठा मर्डर केस

महंगे डीजल पेट्रोल पर राहत दीवाली छूट -पांच रूपये दस रूपये सस्ता पेट्रोल डीजल – कमर तोड़ महंगे ईंधन में राहत का मरहम दीवाली में मिलेगा

कनाडा रहती बेअंत कौर के गांव पहुंचा नकली ऐंबेसी अधिकारी, बरनाला पंजाब पुलिस के काबू-